Breaking News
Home » Latest hindi News Jabalpur » नर्मदा सेवा यात्रा- नर्मदा को प्रदेश की सौभाग्य रेखा भी बनायेंगे : उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय पाठक

नर्मदा सेवा यात्रा- नर्मदा को प्रदेश की सौभाग्य रेखा भी बनायेंगे : उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय पाठक

नर्मदा सेवा यात्रा- नर्मदा को प्रदेश की सौभाग्य रेखा भी बनायेंगे : उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय पाठक
नर्मदा सेवा यात्रा- नर्मदा को प्रदेश की सौभाग्य रेखा भी बनायेंगे : उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय पाठक

प्रदेश के सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग तथा उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय पाठक ने कहा है कि नर्मदा प्रदेश की जीवनरेखा है और प्रदूषण मुक्त कर इसे आमजन के लिए सौभाग्य रेखा बनाने के लिए यह अनुष्ठान शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि नर्मदा का निर्मल, अविरल जल प्रदेश के सुखद कल की भूमिका लिखेगा।
श्री पाठक आज जबलपुर से करीब 15 किमी दूर ग्राम घाना में “नमामि देवी नर्मदा सेवा यात्रा के सहत्रवें दिन यात्रियों के विशाल जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे। पूर्व में श्री पाठक ने ग्राम मंगेली से आज की यात्रा की शुरूआत कर घाना पहुँचे यात्री दल की पारम्परिक रूप से अगवानी की।
श्री संजय पाठक ने कहा कि पतित पावनी नर्मदा हमारी समृद्धि का आधार है। इस जन आंदोलन के संकल्प की पूर्ति के लिए हर आदमी को अपनी सोच में बदलाव लाना होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय की जरूरतों और माँग को ध्यान में रखते हुए हमें अपनी आस्था और विश्वास को व्यक्त करने के तौर-तरीके बदलने होगें। श्री पाठक ने लोगों से आग्रह किया कि हमें अपनी पूजन की विधियाँ बदलनी होगी और पूजन सामग्री का विसर्जन नर्मदा नदी की जगह विसर्जन कुण्डों में करना होगा। उन्होंने कहा कि ये छोटे-छोटे बदलाव ही प्रदेश के विकास और जन-जन की खुशहाली के इस अभियान में बड़ी भूमिका निभायेंगे।
पूर्व में आज की नर्मदा सेवा यात्रा निकटस्थ ग्राम मंगेली के गुरूद्वारे से शुरू हुई। नर्मदा के तट पर नर्मदा जल लेकर नदी के संवर्धन और संरक्षण का संकल्प लिया गया। घाट पर ही वृक्षारोपण के तहत आँवले के 20-25 पौधे रोपे गये। ग्राम के विद्यालय भवन में श्रमदान, स्वच्छता, नशामुक्ति और पर्यावरण सुरक्षा विषयों पर उपस्थित लोगों को शपथ दिलाई गई। संवाद कार्यक्रम के तहत विकास और सामाजिक मुद्दों पर चर्चा की गई जिसमें शिक्षकों, विद्यार्थियों और जागरुक ग्रामीणजनों ने भाग लिया।
इस अवसर पर विधायक श्रीमती प्रतिभा सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मनोरमा पटेल, मण्डी अध्यक्ष नीरज सिंह, सरपंच श्री मोहन यादव, जबलपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष डॉ विनोद मिश्रा उपस्थित थे। महामण्डलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरि महाराज की अगुआई में यात्रा घाना के लिए रवाना हुई।
नर्मदा सेवा यात्रा ग्राम घाना में गृहस्थ संत पंडित देव प्रभाकर शास्त्री ””””””””दद्दाजी”””””””” द्वारा संचालित पार्थिव शिवलिंग निर्माण महारुद्र यज्ञ एवं महारुद्रभिषेक में शामिल हुई। उल्लेखनीय है कि इस सात दिवसीय आयोजन में सवा करोड़ मिट्टी के शिवलिंग बनाऐं जायेंगे। जिन्हे पूजन के बाद नर्मदा के तट पर रखे गये कुण्डों में विसर्जित किया जाएगा। इस अवसर पर दद्दा जी द्वारा कथा वाचन और भागवत आरती की गई। श्री अखिलेश्वरानंद जी, कालीमठ वाले महंत जी, देवास की साध्वी योगमाया तीर्थ और फिल्म अभिनेता श्री आशुतोष राणा इस आयोजन में उपस्थित थे।
घाना से रवाना होकर यात्रा दिन के अंतिम पड़ाव ग्राम घुंसौर पहुँची। ग्राम मंगेली से घुंसौर तक के मार्ग पर नर्मदा सेवा यात्रा का जगह-जगह पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ स्वागत किया गया। महिलाऐं सिर पर मंगल-कलश रखे स्वागत गीत गा रहीं थीं। माथे पर तिलक लगाकर और पुष्पवर्षा कर पूरी आत्मीयता के साथ यात्रियों की अगवानी की गई। रह-रह कर यात्रा दल और मार्ग के दोनों ओर खड़े व्यक्तियों द्वारा “जय माँ नर्मदे”, “नर्मदे हर” और “नमामि देवी नर्मदे” के जयघोष से पूरा वातावरण गूंज उठता था। यात्रा मार्ग पर जैसे भक्ति, आस्था, विश्वास, श्रद्धा और संकल्प का सैलाब उमड़ पड़ा था।
यात्रा में बड़ी संख्या में पुरुष, महिलाऐं, बच्चे और युवा शामिल थे। देर शाम माँ नर्मदे की आरती के साथ सत्रहवें दिन की यात्रा सम्पन्न हुई। घुंसौर में रात्रि विश्राम के बाद यात्रा 29 दिसम्बर को प्रात: आगे रवाना होगी।

Check Also

तीन दिवसीय कृषि मेला किसान जैविक खेती अपनायें – कृषि मंत्री

तीन दिवसीय कृषि मेला: किसान जैविक खेती अपनायें – कृषि मंत्री

जबलपुर- मध्यप्रदेश के किसान कल्याण एवं कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन द्वारा जवाहरलाल नेहरू कृषि …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

seven + 10 =